जानिए काले टमाटर की खेती का तरीका और फायदे। Black Tomato Farming।

हमारा देश एक कृषि प्रधान देश है, ये तो हम सभी जानते हैं। लेकिन इसके बावजूद किसान आज दो वक्त की रोटी के मोहताज हो कर रह गए हैं। पर इस स्थिति को सुधारा जा सकता है। अगर किसान उन फसलों की खेती करें जिनकी मांग अधिक हो। आज हम लेकर आए हैं ऐसी ही एक चीज जो किसानों की आय को बढ़ा सकती है। दरअसल हम बात कर रहे हैं काले टमाटर के बारे में। काले टमाटर के बारे में भारत के बहुत ही कम लोग जानते हैं।

एक ये भी कारण है कि इसकी खेती उतने बड़े स्तर पर नहीं की जाती। आज हम आपको अपने इस लेख और वीडियो में बताएंगे कि काले टमाटर की खेती के लिए आपको क्या चाहिए और ये लाल या बैंगनी टमाटर से ये किस तरह अलग है। अगर आप भी काले टमाटर से जुड़े गुण और इसकी खेती से जुड़ी जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो आप इस लेख और वीडियो पर अंत तक बने रह सकते हैं। 

कैसे बने हैं काले टमाटर 

किसान भाइयों के अलावा आम लोग भी ये नहीं जानते कि काले टमाटर किस तरह बने हैं। आपको बता दें कि काले टमाटर का निर्माण लाल और बैंगनी टमाटर के जरिए ही हुआ है। ज्ञात हो कि ऐसा करने के लिए हाइब्रिड तकनीक का सहारा लिया जाता है। इस तरह के फसल के बीजों को हाइब्रिड बीज भी कहा जाता है। 

काले टमाटर की खेती का तरीका 

एक साधारण किसान भी काले टमाटर के बीज के जरिए इसकी खेती शुरू कर सकता है। इसके लिए किसी तरह के प्रशिक्षण या ट्रेनिंग की आवश्यकता नहीं है। ना  ही काले टमाटर की खेती के लिए किसी खास तरह के मौसम या जलवायु की जरूरत है। जिस तरह लाल या बैंगनी टमाटर की खेती की जाती है उसी तरह काले टमाटर की खेती भी की जा सकती है। आपको बता दें कि लाल टमाटर को पकने में जहां 3 महीने का समय लगता है। वहीं काले टमाटर को पकने में करीब 4 महीने लग जाते हैं। इसके अलावा शुरुआती समय में ये टमाटर पीले और हरे ही होते हैं और आगे चलकर काले हो जाते हैं। 

काले टमाटर से किसानों का फायदा 

इन दिनों काले टमाटर के बारे में ज्यादा लोग नहीं जानते। ऐसे में बहुत ही कम किसान हैं जो इसकी खेती करते हैं। वहीं दूसरी तरफ इसके अलग होने की वजह से लोगों में काले टमाटर की मांग काफी अधिक है। ऐसे में अगर किसान इसकी खेती करते हैं तो इससे वो काले टमाटर की मांग की पूर्ति कर पाएंगे और आसानी से अपनी फसल को बेच पाएंगे। 

काले टमाटर की कीमत 

काले टमाटर को लाल टमाटर के मुकाबले अधिक गुणकारी माना जाता है। इसके अंदर पाए जाने वाले गुण शरीर में कैंसर जैसे वायरस को पनपने नहीं देते। इसके अलावा काले टमाटर में ऐसे कई पोषक तत्व होते हैं जो इंसान को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। अब अगर काले टमाटर की कीमत की बात करें तो इसकी कीमत करीब 120 रुपए किलो तक है। यानी इसके जरिए किसान और व्यापारी दोनों ही अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं। 

काले टमाटर का स्वाद 

लाल या बैंगनी टमाटर से काले टमाटर का स्वाद बिल्कुल अलग होता है। एक तरफ जहां लाल टमाटर खट्टे और मीठे होते हैं। वहीं काले टमाटर का स्वाद काफी तीखा होता है। जिसके चलते इनका सेवन अधिक मात्रा में सलाद के तौर पर किया जाता है।