कृत्रिम गर्भाधान ( Artificial Insemination ) किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

गर्मी के मध्य या अंतिम काल में कृत्रिम गर्भाधान करना से चाहिए।
पशुओं में अक्सर गर्मी सांयकाल 6 बजे से प्रातः 6 बजे 14, के मध्य आती है।
भैंस अधिकतर अगस्त से जनवरी तथा गाय अधिकतर जनवरी से अगस्त माह के मध्य गर्मी पर आती है वैसे उत्तम वैज्ञानिक ढंग से पालन पोषण से वर्ष भर में गर्मी में आ सकती है।
कृत्रिम गर्भाधान के तुरन्त उपरान्त पशुको मत दौड़ायें।
बच्चा देने के बाद से तीन माह के अन्दर पुनः गर्भित करायें।
कृत्रिम गर्भाधान के समय शांत वातावरण हो तथा पशु को तनाव मुक्त रखें।
कृत्रिम गर्भाधान करने के पहले व बाद में पशु को छाया में रखें।
पशु को सुबह व सायंकाल के वक्त ही गर्भधारण करवाएं।

5 लाइक