लॉक-डाउन का पशु-पालन पर क्या असर हो रहा है ?

भारत में 7 करोड़ से ज़्यादा घरों में पशुपालन किया जाता है, ये वही घर जिनसे दूध भारत के नगरों और महानगरों में जाता है। इन घरों में खेती बाड़ी के साथ पशु पालन आय का मुख्या हिस्सा है। लॉक-डाउन शुरू होने के बाद से सोशल मीडिया पर ऐसी काफी फोटोज आईं जिसमे दूध को नालों में बहाया जा रहा है, किसान अपनी गाय को महंगे फल खिला रहा है।

“जहाँ पिछले कुछ दिनों से एक बोरी पशु-आहार के रेट 900 रूपए से बढ़कर 1300 रूपए पहुँच गया है, वहां दूध का रेट गिरकर 20 – 25 रूपए लीटर रह गया है। ये सबसे डेयरी फार्मर को बहुत दिक्कत आ रही है।” महाराष्ट्र के गणेश जी ने बताया।शहरों में सप्लाई नहीं जा पाने के कारण दूध से बानी चीज़ें जैसे – आइस क्रीम, पनीर, मिठाइयों की डिमांड भी कम हो गई है।

बड़ी ट्रांसपोर्टर कंपनियों से बात करने में पता चला है की लगभग पुरे भारत के यही हालत हैं। हाल ही में, सरकार ने सभी बड़े विक्रेताओं और ट्रांसपोर्टरों की मीटिंग में इन्हे लॉक-डाउन में स्पेशल परमिशन दी है, ताकि ये मंडी से दुकानों तक सामान ले जा सकें। उम्मीद की जा रही है की कुछ दिनों में हालात सुधरेंगे और किसान भाई फिर से पशु-पालन का चिंतामुक्त आनंद उठा पाएंगे।

64 लाइक
… और पढ़ें arrow

कोरोना-वायरस (Covid-19) में lockdown में कैसे रहें?

सरकार ने lockdown के निर्देश जारी कर दिए हैं। इसके तहत सभी को यह करना है –

  • घर पर रहें, बहार न निकलें
  • ऑफ़िस, स्कूल या सार्वजनिक जगहों पर बिना किसी ज़रूरी के काम के न जाएं
  • सार्वजनिक वाहन जैसे बस, ट्रेन, ऑटो या टैक्सी से यात्रा न करें
  • घर में मेहमानों को न बुलाएं
  • कोशिश करें कि घर का सामान एक साथ ले आएं
  • अगर आप और भी लोगों के साथ रह रहे हैं तो ज़्यादा सतर्कता बरतें। साझा रसोई व बाथरूम को लगातार साफ़ करें।
  • अपने पशुओं को भी घर पर ही रखने की कोशिश करें, उनसे संपर्क करने से पहले और बाद में अपने हाथ धो लें।

जब तक Lockdown रहे तब तक ऐसे ही रहे ताकि संक्रमण का ख़तरा कम हो सके । हम आपके और आपके पशु के स्वस्थ्य की कामना करते हैं ।

क्या हैं कोरोना वायरस (Covid-19) लक्षण?

38 लाइक
… और पढ़ें arrow

क्या हैं कोरोना वायरस (Covid-19) लक्षण?

कोरोनावायरस (Covid-19) में पहले बुख़ार होता है (दिन 1 – दिन 5 ), इसके बाद सूखी खांसी होती है और फिर एक हफ़्ते बाद सांस लेने में परेशानी होने लगती है।

हालांकि, इन लक्षणों का मतलब ये नहीं है कि आपको कोरोना-वायरस का संक्रमण हो गया है। और कई वायरस में भी इसी तरह के लक्षण पाए जाते हैं जैसे ज़ुकाम और फ्लू में। लेकिन अगर आपको ये लक्षण हैं तो आप सरकार द्वारा संभावित मामलों के लिए बताएस्वास्थ्य  गए निर्देशों का पालन ज़रूर करें।

कोरोना वायरस के गंभीर मामलों में सांस लेने में बहुत परेशानी, निमोनिया, किडनी फ़ेल होना और मृत्यु भी हो सकती है।
उम्रदराज़ लोग और जिन लोगों को पहले से ही कोई बीमारी है (जैसे अस्थमा, मधुमेह, दिल की बीमारी) उनके लिए ख़तरा गंभीर हो सकता है।
हम आपके और आपके पशु के स्वस्थ्य की कामना करते हैं ।

क्या आपको गाय-भैंस से कोरोना-वायरस (Covid 19) हो सकता है?

12 लाइक
… और पढ़ें arrow