जानें क्या है भैंस और गाय का दूध बढ़ाने का मंत्र?

भारत में खेती और पशुपालन का क्या महत्व है इसके बारे में हर कोई जानता है। सदियों से भारत में कृषि और पशुपालन आमदनी और जीवनयापन का बहुत बड़ा स्त्रोत रहा है। आज भी भारत में किसान खेती और पशुपालन कर अपनी आमदनी चला रहे हैं। ऐसे में पशुपालक किसान के साथ सबसे बड़ी समस्या ये हैं कि उनका दुधारू पशु जैसे कि गाय-भैंस कम दूध देते हैं। आज आप इस आर्टिकल में जानेंगे भैस और गाय का दूध बढ़ाने का मंत्र क्या है?

कई बार देखा गया है कि ज्यादा दूध के चक्कर में पशुपालक किसान अपने दुधारू पशु गाय, भैंस को इंजेक्शन लगवा देते हैं जिससे वो दूध तो ज्यादा देने लगती है, लेकिन उसका स्वास्थ्य खराब हो जाता है। वहीं जो इस दूध का सेवन करता है ये उसकी सेहत के लिए भी अच्छा नहीं है।

आज हम आपको बताने जा रहे हैं उन आसान तरीकों के बारे में, जिनके जरिये आप अपनी गाय, भैंस जैसे दुधारू पशुओं का दूध बढ़ा सकते हैं।

गाय का दूध बढ़ाने के लिए इस्तेमाल करें पाउडर

आजकल बाजार में कई तरह के पाउडर भी उपलब्ध है जो पशुओं का दूध बढ़ाने में काफी ज्यादा कारगर है। अलग अलग तरह की कंपनियां ये पाउडर बना रही है। इन पाउडरों के इस्तेमाल से पशु ज्यादा दूध देने लग जाता है। वहीं इसके अलावा किसान भी कई तरह के देशी तरह के चूर्ण (पाउडर) बनाते हैं जिनका इस्तेमाल कर पशुओं की दूध देने की क्षमता बढ़ जाती है।

लोबिया घास खाने से ज्यादा दूध देगा पशु

अगर आप गाय के दूध देने की क्षमता को बढ़ाना चाहते हैं, तो उसे लोबिया घास खिलाएं। लोबिया घास में काफी ज्यादा औषधीय गुण होते हैं, जिससे पशु के दूध देने की मात्रा मिल जाती है। इसके साथ ही दूध की गुणवत्ता भी बढ़ती है। लोबिया घास से गाय को किसी भी तरह का कोई गलत असर नहीं होता है। लोबिया घास की खासियत ये है कि ये बाकी घास की तुलना में ये ज्यादा पाचन क्षमता रखती है। इसमें प्रोटीन और फाइबर की मात्रा काफी ज्यादा होती है। जो कि दूधारू पशुओं के लिए काफी जरूरी होता है।

घर पर ही बनाएं दवाई

अगर आप अपनी गाय का दूध बढ़ाने का मंत्र जानना चाहते हैं तो उसके लिए घर पर ही दवा बना सकते हैं। ये बेहद ही आसान तरीके से और बेहद ही आम चीजों से बन सकती है। इस औषधी को बनाने के लिए आपको नीचे लिखी चीजों की जरूरत होगी

  • 250 ग्राम गेहूं का दलिया
  • 100 ग्राम गुड़ सर्बत (आवटी)
  • 50 ग्राम मैथी
  • एक कच्चा नारियल
  • 25-25 ग्राम जीरा और अजवाईन

क्या है औषधी बनाने का तरीका

इस औषधी को बनाने के लिए सबसे पहले आप दलिया, मैथी और गुड़ को पका लें। इसके बाद उसमें नारियल पीसकर डालें। जब ये ठंडा हो जाए तो इसे पशु को खिला दें। ध्यान रखें की ये सुबह खाली पेट ही देना होता है।

सरसों के तेल और आटे से बना सकते हैं दूध बढ़ाने की दवा

आप घर पर मिलने वाले सरसों के तेल और आटे से भी पशु के दूध देने की क्षमता को बढ़ा सकते हैं। दवा बनाने का तरीका भी काफी सरल है – 

सबसे पहले 200 से 300 ग्राम सरसों का तेल, 250 ग्राम गेहूं का आटा लें। अब दोनों को आपस में मिला लें और फिर शाम के वक्त पशु को चारा और पानी पिलाने के बाद खिला दें। ध्यान रहे की दवा खिलाने के बाद या दवा के साथ में पशु को पानी नहीं देते हैं। ये दवा पशु को 7 से 8 दिनों तक ही खिलानी होती है, इसके बाद इस दवा को बंद कर देना चाहिए।

अगर आप भी अपने पशु की सेहत को लेकर चिंतित है, तो बिना किसी देरी के तुरंत ही Animall ऐप पर जाएं और हमारे डॉक्टर से बात करें। इतना ही नहीं आप Animall ऐप को डाउनलोड कर पशु खरीद या बेच भी सकते हैं। इसके लिए आपको किसी भी तरह का कमीशन नहीं देना होता है।

… और पढ़ें arrow

जानिए कैसे बढ़ाएं मानसून में पशु की दूध देने की मात्रा

पशुओं की उत्पादन क्षमता जैसे ही प्रभावित होती है। उसका सीधा असर पशुपालक की आय पर पड़ने लगता है। यूं तो पशुओं की उत्पादन क्षमता कई वजह से प्रभावित हो सकती है। लेकिन अमूमन ये स्थिति मौसम बदलने के दौरान देखने को मिलती है। ऐसे में मानसून ने देश में दस्तक दे दी है। इस मौसम के दौरान न केवल पशु बहुत से रोगों का शिकार हो जाते हैं।

बल्कि उनकी उत्पादकता भी प्रभावित होने लगती है। इसलिए आज हम ये लेख और वीडियो लेकर आए हैं। आज हम अपने इस लेख में पशुपालक भाइयों को बताएंगे कि आखिर  मानसून में किस तरह पशुओं की दूध उत्पादन क्षमता को बढ़ाया जा सकता है। अगर आप भी अपने पशु की दूध उत्पादन क्षमता में इज़ाफा करना चाहते हैं, तो लेख को अंत तक पढ़ें या फिर वीडियो को देखें। 

मानसून में क्यों पशुओं की दूध उत्पादन क्षमता घट जाती है

मानसून के दौरान पशुपालक भाई अक्सर पशुओं के खाने में बड़ा बदलाव कर देते हैं या फिर मौसम के अनुकूल आहार मुहैया नहीं कराते। जिसकी वजह से पशु की सेहत बिगड़ जाती है और वह कम मात्रा में दूध देने लगता है। इसके अलावा मानसून में पशु की देखरेख में की गई दूसरी गलतियां भी पशु की दूध उत्पादन क्षमता पर असर डालती है। लेकिन डरने की जरूरत बिल्कुल नहीं है। हम आपको बतातें है कि आप किस तरह पशु के दूध देने की मात्रा को बढ़ा सकते हैं। 

मानसून में गाय भैंस की दूध देने की मात्रा कैसे बढ़ाएं

किसान और पशुपालक भाइयों को ये बात समझनी होगी की मौसम बदलने के दौरान पशु की देखरेख का तरीका भी बदलना चाहिए। लेकिन जब ऐसा नहीं होता, तो पशु की उत्पादकता खराब हो जाती है। चलिए जानते हैं आखिर पशु की दूध देने की मात्रा को कैसे बढ़ा सकते हैं। 

अजवाइन और गुड़

अगर गाय या भैंस का हाल ही में प्रसव हुआ है तो आपको उन्हें अजवाइन और गुड़ का काढ़ा देना चाहिए। लेकिन ध्यान रहे कि अजवाइन को पीसकर ही आप उसका काढ़ा बनाएं और पशु को कुछ समय तक लगातार देते रहें। ऐसा करने से पशु अधिक मात्रा में दूध देने लग जाएगा। 

दूध बढ़ाने का पाउडर 

पशुपालक भाई बाजार में मिलने वाले किसी तरह के चूर्ण और पाउडर का उपयोग भी कर सकते हैं। ये बाजार में आसानी से मिल जाता है और इसके जरिए पशु की दूध उत्पादन क्षमता बढ़ जाती है। 

लोबिया घास 

मानसून के दौरान पशुपालक भाई पशु को लोबिया घास खिला सकते हैं। इससे पशु की दूध उत्पादन क्षमता बढ़ सकती है। दरअसल लोबिया घास में प्रोटीन, फाइबर और अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो पशु की दूध की क्षमता को बढ़ावा देते हैं। 

सरसों का तेल और नींबू का रस

पशु के दूध उत्पादन को बढ़ाने के लिए सरसों का तेल उबालें और इसमें नींबू का रस मिलाएं। जब यह ठंडा हो जाए तो पशु को नियमित रूप से खिलाएं।

हमें उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई होगी। अगर आपको यह जानकारी पसंद आई हो तो आप हमारी एनिमॉल ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं। इस ऐप के जरिए आप पशु खरीदने बेचने का काम भी कर सकते हैं। इसके अलावा ऐप के माध्यम से पशु चिकित्सक से भी ऑनलाइन ही संपर्क किया जा सकता है। हमारी एनिमॉल डाउनलोड करने के लिए इस विकल्प का चुनाव करें। 

https://youtu.be/jZ8Fr-droCg

… और पढ़ें arrow

गाय भैंस का दूध बढ़ाने का घरेलू नुस्खा

किसान और पशुपालक भाईयों के लिए गाय भैंस के दूध की गुणवत्ता और मात्रा दोनों ही मायने रखती हैं। अगर पशु के दूध की गुणवत्ता बेहतर होगी तो पशुपालक दूध के जरिए प्राप्त उत्पादों से अच्छी कमाई कर पाएंगे। वहीं अगर गाय या भैंस दूध अधिक मात्रा में देगी तो उसे बेचकर पशुपालक भाई अपनी आय को बढ़ा पाएंगे। 

इसलिए आज हम यह लेख लेकर आए हैं। अपने इस लेख में हम आपको भैंस और गाय का दूध बढ़ाने का घरेलू उपाय बताएंगे। अगर आप एक पशुपालक हैं और अपने पशु की कम दूध उत्पादन क्षमता से परेशान हो गए हैं, तो यह लेख आपके लिए है। आइए चलिए जानते हैं आखिर किस तरह घरेलू उपाय से भैंस और गाय के दूध की मात्रा को बढ़ाया जा सकता है।

गाय और भैंस के दूध बढ़ाने के घरेलू नुस्खे

किसान और पशुपालकों को दूध बढ़ाने के घरेलू नुस्खों के साथ कुछ बातों को भी ध्यान रखना होगा। इसमें सबसे पहला यह है कि पशु की सेहत का पूरा ध्यान रखें और उन्हें समय पर आहार दें। इसके अलावा पशु के रहने का इंतजाम भी अच्छी तरह करके रखें। आइए अब जानते हैं गाय और भैंस का दूध बढ़ाने का घरेलू उपाय। 

डिवर्मिंग हो सकता है घरेलू उपाय

गाय या भैंस जुगाली करते समय अक्सर कुछ ऐसी सामग्रियों को खा लेते हैं। जिसकी वजह से उनके पेट में कीड़े हो जाते हैं। यह कीड़े न केवल उन्हें अंदरूनी तौर पर कमजोर बना देते हैं। बल्कि उनकी दूध देने की क्षमता पर भी असर डालते हैं। ऐसे में पशुपालक भाई गाय के दूध को बढ़ाने के लिए उन्हें कीड़े मारने की दवा जरूर दें। यह दवा अपने पशु को हर 6 महीने के अंदर देनी चाहिए। ऐसा करने से पशु स्वस्थ रहेंगा और उसकी दूध देने की क्षमता बेहतर हो जाएगी। 

खली और दलिया 

पशु आहार को सही करने पर भी दूध की मात्रा को बढ़ाया जा सकता है। अगर आप अपने पशु को नियमित रूप से दलिया और खली को मिलाकर देते रहें, तो इससे गाय के दूध देने की क्षमता में इजाफा होगा। लेकिन ध्यान रहे कि यह आहा गाय या भैंस को केवल शाम के समय ही दें।  

सरसों के तेल से बढ़ाए गाय का दूध 

भारत के अंदर ज्यादातर घरों के अंदर सरसों के तेल का उपयोग किया जाता है। अगर यही सरसों का तेल गाय या भैंस को खली के अंदर मिलाकर दिया जाए, तो इससे गाय अधिक दूध देने लगती है। 

पशु का दूध बढ़ाने वाली चॉकलेट 

हम सभी ने चॉकलेट का सेवन तो किया ही है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि गाय या भैंस का दूध बढ़ाने के लिए भी एक चॉकलेट आ चुकी है। दरअसल भारतीय पशुचिकित्सा अनुसंधान संस्थान ने एक ऐसी चॉकलेट को तैयार किया है। जिसके जरिए गाय या भैंस के दूध देने की  क्षमता को बढ़ाया जा सकता है। इस चॉकलेट में कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्नीशियम, जिंक और कॉपर आदि मिलाया गया है। चॉकलेट के यही गुण गाय के दूध की उत्पादकता को बढ़ाते हैं। 

पानी से बढ़ाएं गाय के दूध की मात्रा 

हम इंसानों के शरीर के लिए जिस तरह पानी जरूरी होता है। उसी तरह गाय भैंस और अन्य पशुओं के लिए भी पानी बेहद जरूरी होता है। अगर आप अपने पशुओं को उचित मात्रा में पानी देते हैं, तो इससे उसके दूध देने की मात्रा बढ़ जाती है। 

अपने पशुपालक भाइयों के लिए हम ऐसी ही महत्वपूर्ण जानकारियां लाते रहेंगे। अगर आप एक पशुपालक हैं और अपने पशु की उत्पादकता को बढ़ाना चाहते हैं या स्वस्थ रखना चाहते है, तो इसके लिए आप हमारी Animall App को डाउनलोड कर सकते हैं। इस ऐप के माध्यम से आप  न केवल विशेषज्ञों की मदद ले सकते हैं। बल्कि ऐप के माध्यम से बेहतर दूध उत्पादन क्षमता के पशु खरीद या बेच भी सकते हैं।  Animall App को डाउनलोड करने के इस लिंक पर क्लिक करें।

… और पढ़ें arrow